Virat Kohli

विराट कोहली

हिंदी, हिंदी निबंध

विराट कोहली क्रिकेट जगत की एक ऐसी प्रतिभा जिसके दीवाने आज इस दुनिया के हर एक कोने में पाए जा सकते हैं, भारतीय क्रिकेट टीम का एक ऐसा सितारा जो दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ शिखर बल्लेबाजों में शीर्ष स्थान रखता है। कोहली की प्रतिभा का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है, कि दुनियाभर के करोड़ों क्रिकेट प्रेमी कोहली के विराट बल्ले से निकले टाइमिंग से भरपूर शॉट्स के तलबगार से बन गए हैं। चीकू के नाम से जाना जाने वाला यह भारतीय क्रिकेट जगत का सितारा विश्व के श्रेष्ठ बल्लेबाजों तथा एक सफल कप्तान के रूप में भी जाना जाता है। विराट कोहली, भारतीय क्रिकेट के पूर्व कप्तान एवं दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर हेलीकॉप्टर शॉट के सरदार एवं अनुभवी बल्लेबाज कुशल रणनीतिकार महेंद्र सिंह धोनी को अपना आदर्श मानते हैं।         

जन्म एवं प्रारंभिक शिक्षा

भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली का जन्म 5 नवंबर सन 1988 ईस्वी को भारत की राजधानी दिल्ली के उत्तम नगर के खत्री परिवार में हुआ था। कोहली की माता का नाम सरोज कोहिली एवं पिता का नाम प्रेम कोहली है। माता-पिता के अलावा उनके परिवार में उनकी बड़ी बहन भावना कोहली एवं बड़े भाई विकास कोहली भी हैं। जहां इनके पिता प्रेम कोहली एक आपराधिक मामले के वकील थें वही उनकी मां एक सकुशल ग्रहणी है।                 

विराट कोहली की प्रारंभिक शिक्षा विशाल भारती पब्लिक स्कूल दिल्ली से हुई। ये कागज की डिग्रियों की बदौलत अपना जीवन न जीकर, बल्कि अपने हुनर के बलबूते दुनिया को एक मिसाल देना चाहते थे। इनके पिता प्रेम कोहली भी विराट कोहली को मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की भांति एक महान क्रिकेटर के रूप में देखना चाहते थे। अतः विराट की आगे की शिक्षा केवल बारहवीं तक ही सुचारु रुप से चल पाई, क्योंकि जब विराट कोहली क्लास ट्वेल्थ में थे तब उन्हें इंडियन अंडर-19 टीम का कप्तान बना दिया गया। परिणाम स्वरूप विराट कोहली की आगे की शिक्षा बाधित हो गई।

अंडर-19 से 1 स्टार बल्लेबाज का सफर

क्रिकेट के प्रति अनोखा लगाव होने के कारण तथा एक कुशल बल्लेबाज के तौर पर इन्हें अंडर-19 कब का कप्तान बनाया गया, अपने किरदार को बखूबी निभाते हुए विराट कोहली ने सीरीज में अपनी पहली जीत हासिल की, और सीरीज जीतकर अपने विजय रथ को आगे बढ़ाया। इसके बाद विराट कोहली को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने अपना कप्तान बनाया, हालांकि कप्तान के रूप में यह बेंगलुरु को अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं दे सके, किंतु एक क्रिकेटर के रूप में उन्होंने बेंगलुरु को भी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया। वर्तमान समय में विराट कोहली भारतीय क्रिकेट टीम में तीनों प्रारूपों के कप्तान हैं। कृष पर कोहली की तूफानी पारी और बल्ले से निकले शॉर्ट्स को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता।

फिटनेस

 बता दें कि विराट कोहली जितना ध्यान अपने क्रिकेट अभ्यास पर देते हैं उससे कहीं अधिक ध्यान अपनी फिटनेस को देखते हैं, कैप्टन कोहली के अनुसार – एक क्रिकेटर अपनी टीम को सर्वश्रेष्ठ तक दे सकता है जब वह मानसिक रूप से फिट होने के साथसाथ शारीरिक रूप से भी हटा फिट हो।  यही कारण है कि कोहली प्रतिदिन व्यायाम करने के साथ साथ एक उपयुक्त डाइट भी लेते हैं। आपको बता दें कि साल 2006 में जब विराट कोहली की उम्र महज 17 वर्ष थी तब उनके पिता प्रेम कोहली का निधन हो गया, उस समय विराट कोहली फिरोज शाह कोटला मैदान में दिल्ली और कर्नाटक के बीच हो रहे रणजी मुकाबले में बैटिंग पर थे। 40 रन पर नाबाद रहने वाले विराट कोहली को जब पिता के देहांत का पता चला तो वे बेहद भावुक हो गए किंतु उन्होंने अपने खेल को प्राथमिकता दी और देश का गौरव सातवें आसमान पर ला दिया, अगले दिन उन्होंने 90 रन की शानदार पारी के साथ टीम को जीत दिलाई तब वह अपने पिता को मुखाग्नि देने के लिए अपने घर गए। एक ऐसा महानायक आज हमारी भारतीय टीम के तीनों प्रारूपों में क्रिकेट कप्तान है।                          

विराट और अनुष्का शर्मा

 बता दें की कि भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली और अनुष्का शर्मा ने एक दूसरे को अपना हमसफ़र चुन लिया, 11 दिसंबर साल 2017 को इटली जाकर दोनों ने अपनी शादी की। इनका प्रेम प्रसंग साल 2013 में एक शैंपू सूट के दौरान शुरू हुआ, इसके बाद विराट और अनुष्का एक-दूसरे के नजदीक आते गए।शादी के लगभग 4 साल बाद विराट कोहली और अभिनेत्री अनुष्का शर्मा को एक बेटी हुई, अनुष्का शर्मा ने अपनी बेटी का नाम वामिका कोहली रखा। विराट कोहली अपनी बेटी और अपनी पत्नी से बहुत प्यार करते हैं। इन दोनों के साथ वह अपनी जिंदगी के खूबसूरत लम्हों का लुत्फ उठा रहे हैं।         

निष्कर्ष

 विराट कोहली एक उच्च विचारों वाले तथा आदर्श जीवन के व्यक्तित्व को अपने अंदर सहेजने वाले, एक कुशल बल्लेबाज के साथ साथ भारतवर्ष के एक सभ्य नागरिक भी हैं। अतः आज की युवा पीढ़ी को इस विशेष व्यक्तित्व वाले, एवं विलक्षण प्रतिभा के धनी भारतीय क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली के जीवन से शिक्षा लेनी चाहिए। और स्वयं को उनके समान ढालने के लिए प्रयासरत होना चाहिए।

Leave a Reply

*

code