Kaal

काल (Tense)

हिंदी, हिंदी व्याकरण

परिभाषा-“क्रिया के उस रूपान्तर को ‘काल’ कहते हैं, जिसमें क्रिया के व्यापार का समय तथा उसकी पूर्ण या अपूर्ण अवस्था का बोध होता है।” -पण्डित कामता प्रसाद गुरु

“क्रिया के करने में जो समय लगता है उसे ‘काल’ कहते हैं।” -व्याकरण चन्द्रोदय

काल के भेद-

(१) भूतकाल

(२) वर्तमान काल

(३) भविष्यत् काल

(१) भूतकाल– जिस क्रिया से कार्य की समाप्ति का बोध हो, उसे भूतकाल की क्रिया कहते हैं। जैसे-

  • जय आया था।
  • ईशा ने पत्र पढ़ा।
  • परिमार्जन आम खा चुका था।

(२) वर्तमान काल– क्रियाओं के व्यापार की निरन्तरता को वर्तमान काल कहते हैं| जैसे-

  • कनिष्का जाती है।
  • जिगीषा पुस्तक लिखती है।
  • मैं तुम्हें पत्र लिख रहा है।

उपर्युक्त वाक्यों में जाने’ तथा ‘पढ़ने’ का कार्य चल रहा है, पूर्ण नहीं हुआ है अत: वर्तमान

काल होगा।

(३) भविष्यत् काल– भविष्य में होनेवाली क्रिया को भविष्यत् काल की क्रिया कहते हैं।जैसे-

  • व्योमेश आयेगा।
  • भाव्या पत्र लिखेगी।
  • कवि-सम्मेलन होगा।

Leave a Reply

*

code