भारत के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार | India’s Top Awards

भारत

भारत में अलग-अलग क्षेत्रों जैसे कि सेना, खेल, साहित्य आदि में बेहतरीन प्रदर्शन करने वालों को हर साल राष्ट्रीय पुरस्कार दिए जाते हैं. इनमें प्रशस्त‍ि पत्र के साथ कुछ धनराश‍ि भी दी जाती है । इस आलेख में हम आपको भारत के प्रमुख राष्ट्रीय पुरूस्कार के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

भारत रत्‍न – यह भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। यह कला साहित्य विज्ञान , सार्वजनिक सेवा और खेल के क्षेत्र में दिया जाता है | इस सम्मान की स्थापना 2 जनवरी 1954 को तत्कालीन राष्ट्रपति श्री राजेन्द्र प्रसाद द्वारा की गई थी | एक वर्ष में अधिकतम तीन व्यक्तियों को ही भारत रत्न दिया जा सकता है।

पद्म विभूषण – यह सम्मानअसैनिक क्षेत्रों में बहुमूल्य योगदान के लिये दिया भारत सरकार का दूसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है| यह सम्मान किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट और उल्लेखनीय सेवा के लिए प्रदान किया जाता है।

पद्म भूषण – भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है, जो देश के लिये बहुमूल्य योगदान के लिये दिया जाता है।

पद्म श्री – भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है, जो देश के लिये उनके विशिष्ट योगदान को मान्यता प्रदान करने के लिए दिया जाता है।

गाँधी शांति पुरस्कार – यह सम्मान भारत सरकार द्वारा , आर्थिक और राजनीतिक क्षेत्र में गांधीवादी तौरतरीकों से काम करने वाली संस्थाओं और शख्सियतों को दिया जाता है। इस समान के साथ एक करोड़ रूपए की धनराशि प्रदान की जाती है और साथ ही एक पट्टिका जिसमे गांधी जी का चित्र अंकित होता है।

इंदिरा गाँधी पुरस्कार – इस पुरस्कार से भारत द्वारा पूरी दुनिया की बेहतरीन संस्थाओं और शख्सियतों को सम्मानित किया जाता है. जिन्होंने पूरी दुनिया में शांति और नए आर्थिक सुधारों में अहम योगदान किए हैं. इस पुरस्कार की स्थापना साल 1986 में हुई थी।

शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार – विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए भारत में सर्वोच्च बहु-विषयक विज्ञान पुरस्कारों में से एक है| इसकी स्थापना 1958 में वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद द्वारा शांति स्वरूप भटनागर के सम्मान में की गई थी, जो इसके संस्थापक निदेशक हैं और भारत में वैज्ञानिक अनुसंधान में उत्कृष्टता को मान्यता देते हैं।

साहित्य अकादमी पुरस्कार – साहित्य अकादमी द्वारा प्रतिवर्ष दिया जाने वाला यह पुरुस्कार भारत का एक साहित्यिक सम्मान है, जो भारत की मान्यता प्रदत्त प्रमुख भाषाओं में से प्रत्येक में प्रकाशित सर्वोत्कृष्ट साहित्यिक कृति को पुरस्कार प्रदान करती है। इसकी स्थापना 1954 में की गई थी |

ज्ञानपीठ पुरस्कार –इसकी स्थापना 1961 में की गई थी | यह भारतीय ज्ञानपीठ न्यास द्वारा प्रतिवर्ष दिया जाने वाला यह पुरुस्कार भारत का एक साहित्यिक सम्मान है, जो भारतीय सविधान की 8 वी अनुसूची में मान्यता प्राप्त भाषाओं में प्रकाशित सर्वोत्कृष्ट रचना को प्रदान किया जाता है।

राजीव गांधी खेल रत्न – यह खेल के क्षेत्र में शानदार और सबसे उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए, भारत में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है। इस पुरस्कार मे एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और नगद राशि पुरस्कृत खिलाड़ी को दिये जाते है।

ध्यानचंद पुरस्कार – भारत का सर्वोत्त्म खेल पुरस्कार है जो किसी खिलाडी के जीवन भर के कार्य को गौरवान्वित करता है। भारत के प्रसिद्ध हॉकी खिलाड़ी के सम्मान में इस पुरस्कार का नाम ध्यानचंद पुरस्कार रखा गया है| इस पुरस्कार में एक प्रतिमा, प्रमाण पत्र, औपचारिक पोशाक और ५ लाख का नकद पुरस्कार दिया जाता है।

अर्जुन पुरस्कार – 1961 में प्रारंभ हुए अर्जुन पुरुस्कार भारत सरकार द्वारा खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये दिया जाता है। पुरस्कार स्वरूप पाँच लाख रुपये की राशि, अर्जुन की कांस्य प्रतिमा और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है।

द्रोणाचार्य पुरस्कार – 1985 में प्रारंभ हुए द्रोणाचार्य पुरस्कार भारत के किसी भी खेल कोच को दिया जाने वाला सर्वोच्च खेल सम्मान है। पुरस्कार का नाम द्रोण के नाम पर रखा गया है, जिसे अक्सर “द्रोणाचार्य” या “गुरु द्रोण” के रूप में जाना जाता है, जो प्राचीन भारत के संस्कृत महाकाव्य महाभारत का एक पात्र है।

तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार – यह पुरुस्कार भारत में साहसिक खेलों के लिए सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कारों में से एक माना जाता है। इसका नाम नेपाली-भारतीय पर्वतारोही तेनजिंग नोर्गे के नाम पर रखा गया है, जो एडमंड हिलेरी के साथ 1953 में माउंट एवरेस्ट को सफलतापूर्वक पार करने वाले पहले व्यक्तियों में से एक थे।

राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार – ये पुरस्कार 6 साल से 18 साल के बीच के ऐसे बच्चों को दिया जाता है जिन्होंने विषम परिस्थितियों में अदम्य साहस का परिचय दिया होता है. इसे भारत के राष्ट्रपति ही प्रदान करते हैं.। इंदिरा गांधी स्कॉलरशिप के तहत आगे की पढ़ाई के लिए वित्तीय मदद भी दी जाती है।


Disclaimer : This article is accurate and true to the best of the author’s knowledge. Content is for informational or education purposes only and does not substitute for personal counsel or professional advice in business, financial, legal, or technical matters.

Leave a Reply

*

code