कोरोना वायरस (Covid-19) | Essay on Coronavirus

हिंदी, हिंदी निबंध

कोरोना वायरस क्या हैं

एक वायरस जिसका नाम कोरोना है। जिसे हम कोरोना वायरस के नाम से जानते हैं| इसकी शुरुआत 2019 में चीन के वुहान प्रांत के सीफूड और पोल्ट्री बाजार में हुई थी और यहां आज दुनिया भर के लिए एक गंभीर मामला बन गया है| क्योंकि यह वायरस आज पूरी दुनिया में फैलने के बाद  कई की मौत और कई बीमार बीमारी की वजह  बन चुका है। यह  वायरस जूनोटिक है |जिसका अर्थ है कोरोना वायरस मनुष्य और जानवर दोनों को हो सकता है। यह वायरस आर एन ए से बना होता है।

कोरोनावायरस के लक्षण

कोरोनावायरस के लक्षण 2 से 14 दिनों के बाद दिखाई दे सकते हैं । कई बार संक्रमित होने के बावजूद  भी कोई लक्षण नहीं दिखाई देते हैं |  और जब लक्षण दिखाई देने लगते हैं । तो इसमें मामूली जुखाम से लेकर  ज्यादा गंभीर रोगों की वजह हो सकती है। अगर वायरस की संख्या आपके शरीर में ज्यादा है । तो ज्यादा गंभीर लक्षण दिखाई देने लगेंगे। लक्षण में बुखार ,थकान, सूखी खांसी ,नाक का बंद होना ,बहती नाक और गले की खराश, छाती में दर्द, साथ में सबसे ज्यादा लक्षण सांस लेने में कठिनाई हो सकती है। हालांकि ,80% वायरस से संक्रमित लोग किसी विशेष इलाज के बिना ही ठीक हो जाते हैं।

कोरोनावायरस में नया स्ट्रेन क्या होता हैं

कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन को काफी खतरनाक और काफी गंभीर, तेजी से फैलने वाला स्ट्रेन बताया जा रहा है । स्ट्रेन एक प्रकार का कोरोना वायरस का ही दूसरा रूप है । क्योंकि कोरोना वायरस जब किसी के शरीर में जाता है तो इसके आर .एन .ए.  में कुछ बदलाव होता है । जिसे नया स्ट्रेन कहते हैं।

कोरोनावायरस की वैक्सीन

कोरोना वायरस के इलाज के लिए अभी तक कोई विशेष प्रकार की वैक्सीन तैयार नहीं हुई है। जिसके लिए डब्ल्यूएचओ और पूरा विश्व इस वायरस के इलाज को खोजने में लगा हुआ है । जब तक वैक्सीन तैयार नहीं होती हैं।  जरूरी है खुद की सतर्कता बनाए रखें।

कोरोनावायरस से बचाव के उपाय

अगर कोई व्यक्ति हाल ही में कोविड-19 कंटेनमेंट जोन से यात्रा करके लौटा है। और आपके साथ है। तो आप उनसे दूरी बनाए रखें और कंटेनमेंट जोन से जाने  वाले व्यक्ति को 14 से 21 दिन की self-quarantine करके रखें। घर से बाहर मास्क लगाकर जाए । सैनिटाइजर का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करें। स्वच्छता बनाए रखें । ज्यादा  किसी से मिले नहीं। प्रभावित लोगों से 1 मीटर यानी 3 फीट की दूरी भी बनाए  रखनी चाहिए। हाथों को 20 सेकंड तक साफ करते रहे और नियमित समय के अंतर पर साफ करें साबुन और पानी का उपयोग जरूर करें और अल्कोहल आधारित सैनिटाइजर का उपयोग कर हाथ पर रगड़े। बार बार अपनी आंखें नाक या मुंह को ना छुएं। बच्चे और बुजुर्ग लोग , हाई ब्लड प्रेशर , दिल की समस्याएं और मधुमेह के पेशेंट में यह वायरस ओर खतरनाक रूप ले सकता है ।और जिन लोगों की इम्युनिटी कम है । उन पर भी यह वायरस आसानी से प्रभाव डाल सकता है।

कोरोनावायरस हो जाने पर क्या करें

कोरोना वायरस अन्य वायरस की तुलना में तेजी से शरीर में फैलता है । वायरस  सबसे ज्यादा शरीर के अन्य हिस्सों की तुलना में आपके गले नाक और मुंह में वायरस जाने की ज्यादा संभावना होती है । इसलिए आपके आसपास वातावरण को सैनिटाइजर से साफ करते रहे। औरत गले को साफ करने के लिए रोज गुनगुना पानी का से गला साफ करें , रोज़ आयुर्वेदिक काढ़ा पिए साथ ही गरम भोजन ले। बासी और बाजार के खाने से परहेज करें। बुखार ,खांसी या सांस लेने में कठिनाई होती है । तो तुरंत इलाज करवाने जाए और अगर आप बीमार हैं| तो पब्लिक जगह से दूर रहे जैसे कि ऑफिस स्कूल आदि।

Leave a Reply

*

code