कोरोना वायरस के रिइंफेक्‍शन से बचने के लिए रखें इन बातों का ध्यान | Keep these things in mind to avoid Coronavirus reinfection

सेहत

दुबारा संक्रमित होना किसी भी बीमारी में संभव है, तो कोविड-19 में भी यह हो सकता है। कोरोना से ठीक होने के बाद भी खुद की देखभाल बहुत जरूरी है। कोविड 19 दुबारा ना हो उसके लिए स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ द्वारा बताई गईं कुछ बाते जरूरी है।

एक बार कोरोना से उबरने के बाद मरीज फिर से संक्रमित हो सकते हैं। कुछ डॉक्टर्स मानते है कि यह पुनः संक्रमण की वजह से हो सकता है, जबकि कुछ डॉक्टर्स का मत है कि ये बीमारी के बाद लापरवाही का नतीजा भी हो सकता है।

कोविड19 से ठीक होने के बाद भी जरूरी है सावधानी रखना

प्लाज्मा डोनेशन सेंटर में ऐसे कई कोविड सर्वाइवर मिले जिनके अंदर एक भी एन्टीबॉडी नहीं था। इस वायरस से ठीक हुए मरीज के लिए भी जरूरी है कि सावधानी रखे और सारे गाइडलाइन्स का अच्छे से पालन करें।

कुछ मरीज रीलैप्स केस वाले भी हैं। अगर किसी को कोरोनावायरस था, तो उसे रोज कसरत कर के, स्वस्थ आहार लेकर सेनीटाईजेसन, मास्क और सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन कर अपनी रोगों से लडने की छमता “इम्युनिटी” बनाए रखनी चाहिए। जहाँ तक संभव हो जंक फ़ूड न खाये या बहुत ही कम खाएं ।

जरूरी है ये गाइडलाइन्स – पोस्ट या प्री कोविड दोनों ही अवस्था में
हमेशा मास्क पहने, हाथ धोते रहे और दो गज की दूरी का पालन करें

स्वास्थ विभाग के विशेषज्ञ के अनुसार कोरोना की वैक्सीन आसानी से नहीं बन सकती और इसके बाजार में आने में भी समय लगेगा । इस बात का ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि कोई भी फिर से कोविड-19 इन्फेक्शन से संक्रमित न हो जाए। भारत और कई देशों से कोविड-19 के पुनः संक्रमण की रिपोर्ट आईं हैं। कोविड 19 से पुनः संक्रमित होना संभव है और ये काफी गंभीर है क्योंकि हमारे लंग्स बार-बार इंजरी नहीं ले सकते। हम बस यह कर सकते हैं कि जो गाइडलाइन की सलाह दी जा रही है उनको पालन करे। हमेशा मास्क पहने , बाहर जाने पर हैंड सैनीटाईजर को भी साथ रखे और उसका उपयोग बार बार हाथ साफ या हाथ धुलने के लिए करे ।खाने से पहले हाथ सेनिटाइज जरूर करे।

संतुलित आहार  – सिर्फ कोरोना के संक्रमण मेंही नहीं बल्कि उसके बाद भी

पोषण विशेषज्ञ के अनुसार, “एक संतुलित आहार होना चाहिए जिसमें साबुत अनाज हो, अच्छी क्वालिटी का वसा और प्रोटीन हो और कई प्रकार की सब्जियां हों। कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद प्रोबायोटिक लेना बहुत जरूरी है। क्योंकि इस दौरान आपका पेट काफी समस्याओं से जूझता है। तो नेचुरल प्रोबायोटिक लें जैसे कि घर पर बना अदरक और हल्दी का अचार, निम्बू का अचार, छाछ इत्यादि। आपको सप्‍ताह में कम से कम चार बार दाल जरूर खानी चाहिए।

कुछ समय धूप में बिताएं जिससे आपकी हड्डियों और पेट का स्वास्थ बेहतर हो। खूब सारे फल और सब्जियां खाएं जिससे कई प्रकार के विटामिन्स और मिनरल्स मिलें। अलग-अलग पेय पदार्थों की मदद से खुद को हाईड्रेटेड रखें जैसे कि नारियल का पानी, हर्बल चाय, नीम्बू पानी, पानी, छाछ और गर्म सूप।

यह भी पढ़ें – मूंगफली : दिल से लेकर वजन कम करने में मददगार | Peanuts : Helpful from Heart to Weight Loss

आपकी खाना पचाने की शक्ति इस वक्त थोड़ी कमजोर होती है, तो रोजाना कम से कम एक बार हल्का खाना खाएं जैसे कि देसी घी में बनी खिचड़ी। आराम आपके शरीर को ठीक करने के लिए बहुत जरूरी है इसलिए आराम जरूर करे।

स्वस्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार “यह सबसे ज्यादा आपके पाचन क्रिया, स्टैमिना और इम्युनिटी को प्रभावित करता है। तो आपकी डाइट में प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंट रिच खाना, बहुत सारे फल होना चाहिए। ऐसा भोजन जो आपके पेट के स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर करे, जरूर होना चाहिए।

इस वायरस के इलाज के वक्त, इम्यून सिस्टम बहुत प्रभावित होता है। इसलिए ताजे फल और सब्जियों को खाना बहुत जरूरी है। उनमें एंटीऑक्सीडेंट होते हैं और बहुत सारे विटामिन भी जैसे सी, ई और ए आदि जो बहुत अच्छे होते है ,और स्वासथ्यवर्ध्दक भी।

सब्जियों को इस तरह बनाना चाहिए जिससे वो पचने में आसान रहें ना ज्यादा गली ना ज्यादा कच्ची। रोजाना ड्राइफ्रूट्स और सीड्स लेना भी आवश्यक है क्योंकि इनमें विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं। प्रोटीन रिच फूड लेने से खोये हुए मसल्स वापस आने में सहायता मिलती हैे। शरीर टिश्यूज को बनाने के लिए प्रोटीन का इस्तेमाल करता है। हर रोज दाल, दूध, पनीर, सोया, अंडे, अपने हर आहार में रखना जरूरी है।

कोविड-19 के बाद पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है इसलिए फाइबर वाला फूड, प्याज और लहसुन व दही भी लेना है। स्वस्थ पेट पाचन क्रिया सुधारने और पोषक तत्व अवशोषण करने में और रोगों से लडने की क्षमता में आपकी मदद करता है। 8-10 गिलास पानी पीना भी हर दिन बहुत अच्छा और जरूरी होता है ।

यह भी पढ़ें – दालचीनी के स्वास्थ्य लाभ। Amazing Health Benefits of Cinnamon

Disclaimer : This article is accurate and true to the best of the author’s knowledge. Content is for informational or education purposes only and does not substitute for personal counsel or professional advice in business, financial, legal, or technical matters.

Leave a Reply

*

code