भारत की बात

भारत

विश्व के अनेक देशों की भांति भारत भी एक देश है ,जो एशिया महाद्वीप  के दक्षिण भाग में स्थित है सभ्यता की दृष्टि से यहाँ की सभ्यता सबसे प्राचीन है जो सिन्धु घाटी की सभ्यता के नाम से जानी  जाती है ,क्षेत्रफल की दृष्टि से विश्व में सातवाँ एवं जनसँख्या की दृष्टि से दूसरा है | 

                 हमें गर्व है की हम भारतवासी है ,भारत को अनेकों नामो से जाना जाता है | आर्यवर्त ,हिंदुस्तान जैसे प्राचीन नामों के साथ भारत एवं इंडिया वर्तमान नाम है |भारत दुनियाँ का सबसे सहिष्णु एवं लोकतान्त्रिक गणतान्त्रिक देश है यहाँ की राष्ट्रीय भाषा हिंदी है फिर भी यहाँ के लोग भिन्न भिन्न भाषा बोलते है ,भिन्न भिन्न धर्मो का पालन करते है ,भिन्न भिन्न सम्प्रदाय और संस्कृति को मानते हुए ,एक दुसरे का सम्मान करते हुए मिलजुल कर रहते हैं इसीलिए भिन्नता में एकता भारत की विशेषता ,उक्ति प्रसिद्ध है |

                 प्राकृतिक दृष्टि से भारत की स्थिति एक प्रायद्वीप जैसी है जो तीन ओर से तीन महासागरों से घिरा है ,पूर्व में बंगाल की खाड़ी तो पश्चिम में अरब सागर तथा दक्षिण में हिन्द महासागर से घिरा है ,वहीँ उत्तर में हिमालय पर्वत भारत के मुकुट के रूप में खड़ा है |यहाँ गंगा, यमुना ,सरस्वती , ब्रह्मपुत्र ,नर्मदा ,गोदावरी ,आदि अनेक पवित्र नदियाँ बहती है |भारत एक खूबसूरत देश है जो अनेको सांस्कृतिक धरोहरों ,परम्पराओ ,स्मारकों के लिए जाना जाता है |यहाँ के निवासी बहुत ही विनम्र,इमानदार और प्रकृति के साथ जीवन जीने में विश्वास करते है |

                 भारत विश्व में ऐसा एकमात्र देश है जहाँ विश्व की सभी जलवायु ,सभी खनिज पदार्थ,सभी प्रकार के अन्न , सभी कलाएं ,तथा एतिहासिक धरोहरें होने से संसार के सभी लोग आते है ,अनेक धर्मो के भक्त एवं तीर्थ यात्री आते है |भारत में जहाँ शिव पार्वती ,राम सीता ,कृष्ण राधा ,हनुमान ,भगवान महावीर,भगवान बुद्ध ,जैसे सर्वमान्य ईश्वर ने जन्म लिया वहीँ स्वामी विवेकानंद , संत तुलसी दस , संत कबीर ,नानक ,महात्मा गाँधी ,जैसे युग प्रवर्तकों ने जन्म लिया ,वहीं डा राधाकृष्णन ,डा ए पी जे अब्दुलकलाम जेसे महान विचारको ने जन्म लिया है |सी वी रमण ,जगदीश बोष सारा भाई जैसे वैज्ञानिक ,जवाहर लाल नेहरु ,सुभाष बोष ,सरदार पटेल ,भगतसिंह ,आदि अनेक महान नेताओ ने देश में जन्म लिया |

                 भारत के प्राचीन विश्व विद्यालय तक्षशिला,शान्तिनिकेतन ,प्राचीन भारत के प्रमुख शिक्षा केंद्र रहे तथा वर्तमान प्रयाग,काशी विश्वविद्यालय ,सागर,जीवाजी ,बरकतउल्ला विश्वविद्यालय ,जहाँ आज भी विदेशियों के लिए शिक्षा के आकर्षण केंद्र है |ज्योतिष का ज्ञान आज भी भारत की अमूल्य निधि है|

                 भारत का राष्ट्रीय झंडा तिरंगा है जिसमे केशरिया सबसे उपर ,सफ़ेद मध्य में जिसमे बीच में नीले रंग की 24 तीलियों वाला अशोक चक्र त रंग नीचे है |भारत का राष्ट्र गान जन गण मन है तथा राष्ट्र गीत वन्दे मातरम है |भारत का राष्ट्रीय खेल हाकी , पशु चीता ,पक्षी मोर ,फूल कमल ,फल आम है|यहाँ अनेक प्राचीन इमारते है जैसे रामेश्वरम का शिव मंदिर ,  मदुरै का मीनाक्षी मंदिर ,पुरी का सूर्य मंदिर काशी विश्वनाथ मंदिर ,सोमनाथ मंदिर ,रणकपुर का जैन मंदिर ,खजुराहो के मंदिर ,अजंता एलोरा की गुफाएं ,ताजमहल ,लालकिला ,आदि अनेक दर्शनीय स्थल है जिन्हें देखने हेतु अनेक देशों के पर्यटक आते है |

Disclaimer : This article is accurate and true to the best of the author’s knowledge. Content is for informational or education purposes only and does not substitute for personal counsel or professional advice in business, financial, legal, or technical matters.

Leave a Reply

*

code